जादुई काजल की कहानी | Jadui Kajal Ki Kahani In Hindi | Kids Story In Hindi

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे ब्लॉक के अंदर तो दोस्तों आज किसी पोस्ट के माध्यम से मैं आपको जादुई काजल की कहानी पढ़ाने जा रहा हूं जिसको भाई साहब पढ़कर आपको बहुत अच्छा लगेगा आपको अच्छा खासा मनोरंजन होगा तो दोस्तों अगर आपको यह कहानी अच्छी लगे तो आप अपने दोस्तों के साथ ऐसे ही सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हो और साथ ही साथ हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब भी कर सकती हो।

 
जादुई काजल की कहानी | Jadui Kajal Ki Kahani In Hindi | Kids Story In Hindi
जादुई काजल की कहानी | Jadui Kajal Ki Kahani In Hindi | Kids Story In Hindi


जादुई काजल की कहानी


बहुत समय पहले की बात है एक कस्बे में मारिया नाम की लड़की और उसकी मां रहती थी उसकी मां किसी अमीर घराने में काम करने के लिए जाती थी वहां पर वह घर का सारा काम किया करते थे वह वहां की मेड थी। जब एक दिन मारिया की मां सब्जी में नमक डालना भूल गई थी तब मालकिन ने कहा कि तुम सब्जी में नमक क्यों नहीं डाला आज सब्जी में नमक क्यों नहीं है तब मारे की मां कहती है की मालकिन शायद में डालना भूल गई हूं तब उस मालकिन की बेटी करती है कि मां आ रही आंटी मेरे लिए बेड पर कोफी भी नहीं लेकर आई। मां इसे निकाल दो अभी से काम पर मत रखो।


तमारा की मडोरा कहती है कि मालकिन में बूढ़ी हो गई हूं इस वजह से मुझे कुछ कुछ याद रहता है बाकी मैं भूल जाती हूं मालकिन में आपके यहां पर कई सालों से काम कर रही हूं अगर आप मुझे निकाल दोगी तो मैं कहां पर जाऊंगी मैं और मेरी बेटी कहां पर जाएंगे। तब मालकिन कहती हैं कि मारिया की मां यानी कि डोरा अगर तुम ऐसे ही काम करोगी तो मुझे तुम्हें मजबूरन निकालना पड़ेगा तब मालकिन कहती है कि तुम्हारी एक बेटी भी है ना कल से तुम उसे एक काम पर भेज देना मैं तुम्हारी जगह सारा काम कर लेगी अगले दिन जब मारिया काम करने के लिए आती है तब मालकिन उसे देख कर कहते हैं कि एक गरीब की लड़की इतनी सुंदर कैसे हो सकती है मैं से काम करा कर रगड़ रगड़ कर इसे काला कर दूंगी देखना कैसे हो जाएगी मालकिन उसे सुबह 6:00 बजे काम करने के लिए बुलाती और शाम को 11:00 बजे काम करने के लिए छोड़ती।

मारिया खुद की मां से जल्दी काम करती थी क्योंकि वह जवान थी ऐसे करते-करते वह रोज काम करती थी जब 1 दिन उसकी माता जी बीमार हो गई तब वह सुबह 6:00 बजे से 11:00 बजे तक तो मालकिन के यहां पर काम करती थी और रात को 11:00 बजे के बाद में अपनी मां का ध्यान रखती थी और साथ में रात को दवाई भी दिया करती थी जिस वजह से उसको रात को सोने का भी मौका नहीं मिल पाता था और उसकी आंखों के नीचे काले घेरे हो गए थे जिस वजह से उसका मुंह उदास उदास रहने लग गया था तब मारिया की मां कहती है कि मैं मरने से पहले तुम्हारी शादी करना चाहती हूं जब मारिया की मां अपनी बेटी के लिए अलग-अलग रिश्ते लेकर आती है तब सभी मारिया को मना कर देते हैं शादी करने के लिए क्योंकि मारिया काम उदास सा रहता है उसकी आंखों के नीचे काले काले घेरे पड़ गए हैं जिस वजह से सभी उसको शादी करने के लिए मना कर देते हैं।


तब मारिया की मां कहती है कि तुम इस रविवार के दिन जंगल में जाना वहां पर एक वेद रहते हैं जो तुम्हें इस बीमारी से छुटकारा दिला देंगे जो तुम्हें कुछ दवाई देते हैं जिससे तुम्हारी चेहरे की रौनक वापस आ जाएगी दम मारिया कहते हैं कि मैं आप भी मेरे साथ चलना आपकी भी बीमारी दूर हो जाएगी तब उसकी मां का तो ठीक है बेटा मारिया अगले दिन जब मालकिन के यहां पर काम करने के लिए जाती है तब मालकिन को बताती है कि मैं रविवार वाले दिन वेद बाबा के पास जाऊंगी जंगल में तो मैं 1 घंटे के लिए ही जाऊंगी तब आप मुझे छुट्टी दे देना तब मालकिन कहती है कि अगले 15 दिनों तक मैं तुम्हें छुट्टी नहीं दे सकती क्योंकि मेरी बेटी का एग्जाम चल रहे हैं और रात को भी तुम्हें यहीं पर रहना पड़ेगा।


तब मारिया सोचती है कि मैं तो अजीब दुविधा में फंस गई अब तो मुझे यहीं पर रहना पड़ेगा ना तो मैं घर पर मां के पास जा सकती हूं और ना ही बाबा के पास जब रात हो गई तब मारिया सोची की मैं जाऊं या नहीं अब मारिया खिड़की से कूदकर घर चली जाती है और घर जाकर देखते कि मां की तबीयत बहुत ही ज्यादा खराब हो जाती है और वह मां को कंधे पर उठाकर जंगल की ओर ले जाती है और जंगल में उसे एक औरत मिलती है और वह औरत से पूछती है कि यहां पर वैध बाबा है क्या तथा औरत कहती है कि वह वेद बाबा तो यहां से चले गए हैं तुम क्या चाहती हो वेद बाबा से कहती है कि मेरी मां की तबीयत बहुत खराब है अगर इनका इलाज नहीं हुआ तो यह शायद मर जाएंगे तब वह औरत बोलती है कि मैं तुम्हारी मां का इलाज कर सकती हूं क्योंकि वह औरत काला जादू जानती है जिस वजह से उसकी मां का इलाज कर सकती है वह औरत मारिया और उसके मम्मी को अपने साथ लेकर अपनी कुटिया में चली जाती है और वहां पर मारिया को कहते हैं कि तुम इस कागज पर साइन कर दो उसके बाद में मैं तुम्हारी मां का इलाज कर दूंगी मारिया जल्दी से उस कागज को बिना पढ़े हुए साइन कर देती है और वह जादुई औरत उसकी मां को ठीक कर देती है।


मारिया उस औरत से कहती है कि क्या तुम मेरे चेहरे की रंगत को भी वापस ले सकती हो तो वह औरत कहती है कि मैं ऐसा नहीं कर सकती हूं तुमने जिस कॉन्ट्रैक्ट पर साइन किया है वह इस काम के लिए ही था कि मैं तुम्हारी मां को सही कर दे अब तुम्हें मेरा एक काम करना पड़ेगा मैं तुम्हें एक जादुई काजल देती हूं तुम्हें 11 स्त्रियों पर यह काजल लगाना होगा और लगाने के बाद में वे स्त्रियां अंधी हो जाएंगी और उनकी आंख को तुम्हें मेरे पास लेकर आना है जिससे आंखों का में भोग लगाकर इस दुनिया की सबसे ताकतवर जादूगरनी बन जाऊंगी अगर तुमने ऐसा नहीं किया तो उस कॉन्ट्रैक्ट में तुमने जो साइन किया है उसके हिसाब से तुम अगले 15 दिन में अंधी हो जाएगी और तुम्हारी मां दोबारा से बीमार हो जाओगी सिर्फ तुम्हारे पास 15 दिन का समय है।



मारीया अपनी मां को कंधे पर ले जाकर छोड़ देती है। और वापस मालकिन के घर चली जाती है। मारिया सोचती है कि अब मैं काजल किसको लगाऊंगी मारिया के दिमाग पर कभी-कभी यह सवाल आ जाता है कि इस घर में दो औरत है इन दो औरतों को मैं काजल लगा दूंगी तो यह अंधी हो जाएंगे उनकी आंखें में लेकर चले जाऊंगी। लेकिन मैं सोचती है कि मैं ऐसा नहीं करूंगी ऐसा सोचते सोचते 14 दिन भी तो जाते हैं और मारिया की मां वापस बीमार होने लग जाती है मारिया अपनी मां को बाहर बैठा कर खुद ही बाहर आ जाती और का चिल्लाने लग जाती है कि कोई मेरी मदद करो मैं अंधी हो रही हूं मेरी मां मरने वाली है मैं अंधी हो रही हूं मेरी मां बनने वाली है ऐसा करके तुम्हें बार-बार चिल्लाने लग जाती है तब राह चलता एक मुसाफिर आता है और कहता है कि तुम क्यों चिल्ला रही हो तुम्हें क्या समस्या है।


मारिया कहती है कि मारिया जंगल जाने के लिए कर जादूगरनी के काजल देने तक सारी बातें उसको बता देती है और और वह आदमी कहता है कि वह वेद में ही हूं और मैं तंत्र मंत्र भी जानता हूं जादूगरनी का काला जादू खत्म कर दूंगा तब वह वेद और जादूगरनी का काला जादू खत्म कर देता है और उसकी मां को ठीक कर देता है और वह काजल गायब हो जाती है कमरिया कहती है कि तुम मेरे चेहरे की रंगत को भी ठीक कर सकते हो क्या कहता है कि तुम्हें आराम की जरूरत है क्या तुम मुझसे शादी करोगी मारिया उसको शादी करने के लिए हां कर देती है और वह मालकिन के घर जाकर काम करने को मना कर देती हैं वह काम कर लिया के लिए नहीं आएगी और मैं उसे वैद्य से शादी कर लेती है और कुछ दिनों बाद में हमें आराम जैसे करती रहती है तब उसका चेहरा वापस पहले की तरह एकदम खूबसूरत हो जाता है।







Post a Comment

0 Comments