मेहनतकश मा की कहानी | Kids Story In Hindi

 नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे नई पोस्ट की नई कहानी के अंदर तो दोस्तों आज किस कहानी का टाइटल है मेहनतकश मा

आज किस कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि इस कहानी में एक माताजी होती है जो बहुत ही ज्यादा काम करती है तो उसके ऊपर मैंने यह कहानी लिखी है तो आपको यह कहानी अच्छी लगी तो आप अपने दोस्तों के साथ इस को सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हो चलो कहानी को बिना देरी के प्रारंभ करते हैं।


मेहनतकश मा की कहानी


बहुत समय पहले की बात है रविवार का दिन था। चूचू की माताजी बहुत ही ज्यादा काम करती थी और वह काम कर रही थी घर का उस दिन। बच्चे सारे के सारे खेलने में लगे रहे थे। बड़े सारा आराम करने के लिए लग रहे थे।

बच्चों को खेलते खेलते प्यास लगी और उस दिन गर्मी का समय था इस वजह से प्यास लग गई तब चू चू अपनी माताजी के पास जाती है। तो चू चू  देखते हैं कि उसकी माता जी बहुत ज्यादा काम करती है। मैं सारा सारा घर का काम अकेले हीी करने के लगी रहती है। तब चू चू  सोचती है कि मैंं भी अपनी मम्मी की मदद करो तब मैं मम्मी के पास जाती है और मम्मी से कहतेे हैं कि मम्मी मैंं तुम्हारी क्या मदद कर सकती हूं।


तब मम्मी की बात सुनकर वह खाना खाने की टेबल पर लगाने के लिए चली जाती है तब चू चू को काम करते हुए देखकर घर के सारे बड़े बुजुर्ग भी चूचू को देखकर घर केेे काम करने मेंंंंं मदद करने के आ गए।


चूचू की दादी जी खाना बनाने में मदद करने लगी अपनी बहू की और चू चू के चाचा जी डाइनिंग टेबल को सजाने लगी और वह छोटा बच्चा भी डाइनिंग टेबल को सजा नहीं लगा चूचू के पापा जी ने सारे बर्तन धो डाले इस प्रकार सभी घर वालों ने सारा काम कर लिया।

तब उसकी मम्मी कहती है कि आप सब लोगों का मेरी मदद करने के लिए शुक्रिया और वह चूचू को भी इस बात का धन्यवाद कहती है क उसकी वजह से ही बड़े लोगों को भी घर का काम करने की ललक जगी उनको भी अपना फर्ज समझ में आ गया चू चू ने इस तरीके से अपना उदाहरण पेश किया कि सारे घर वालों को समझ में आ गया कि घर का काम सभी को मिलजुलकर करना चाहिए।


शिक्षा

हमें हमारा काम हमेशा मिलजुल कर ही करना चाहिए क्योंकि एकता में काफी शक्ति होती है।


Post a Comment

0 Comments