बंदर और चिड़िया की कहानी | Monkey And Sperrow Kids Story In Hindi

 नमस्कार दोस्तों स्वागत आपका हमारी नई ब्लाग के अंदर दोस्तों आज किस पोस्ट के माध्यम से हम आपको एक नई और मजेदार कहानी सुनाने जा रहा हूं दोस्तों अगर आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ इस कहानी को शेयर कर सकते हो।


बंदर और चिड़िया की कहानी

बंदर और चिड़िया की कहानी | Monkey And Sperrow Kids Story In Hindi
बंदर और चिड़िया की कहानी | Monkey And Sperrow Kids Story In Hindi


बहुत समय पहले की बात है। एक बंदर और एक चिड़िया किसी दूर घने जंगल में एक पेड़ के ऊपर रहते थे। बंदर सारा दिन मस्ती करता रहता था कभी इधर घूमता कभी उधर घूमता मैं कुछ काम नहीं करता था बस सारा दिन अफरा-तफरी ही मजा आता रहता था। जबकि वह चिड़िया सारा दिन काम करती रहती थी और अपने बच्चों को सारा दिन खाना लाकर देती थी और उन्हें खाना भी खिलाती थी।


वह चिड़िया काफी मेहनती थी और वह बंदर जो कि कुछ काम नहीं करता था। क्योंकि बारिश का मौसम काफी नजदीक आ रहा था इस वजह से चिड़िया अपने बच्चों को बारिश से बीतने से बचाने के लिए और अपने घोसले को काफी बड़ा बनाने की कोशिश कर रही थी और वह रोज घास वगैरह लाकर अपने बच्चों के घोसले को बड़ा बना ही दिया था।और उस चिड़िया ने अपने बच्चों को बारिश से मैं भीगने का जुगाड़ कर लिया था। जबकि वह बंदर मस्ती में ही लगा रहता था।


जब बारिश का समय आया और बारिश होने लगी तब चिड़िया ने तो अपने बच्चों को बारिश से भेजने से बचाने के लिए सारा इंतजाम कर लिया था जबकि बंदर ने कुछ नहीं किया था और बारिश स्टार्ट हो ही गई थी और जैसे-जैसे बारिश बढ़ती गई लेकिन चिड़िया अपने घोसले को बारिश से बचाने के साथ जुगाड़ कर ली और वह नहीं बिजी लेकिन बंदर बारिश में भेजता रहा।

बंदर की ऐसी दशा देखकर वह चिड़िया हंसने लगी और कहीं की अगर तुम भी मेरे साथ मेहनत कर लेते तो तुम भी बारिश से नहीं भेजते तब उस बंदर को गुस्सा आ गया और उस बंदर इस चिड़िया के बच्चों को और उसके घोसले को और चिड़िया को तीनों को जमीन पर डाल दिया यानी कि गिरा दिया और वह उस पेड़ की डाल को ढंग से हिलाने लगा।


तब चिड़िया कहते हैं कि मैंने तुम्हारे क्या बिगाड़ा था जो तुमने मेरे बच्चों को जमीन पर गिरा दिया।


शिक्षा

इस कहानी से हमें शिक्षा मिलती है क्या मैं बेवकूफ आदमी को नहीं समझाना चाहिए बल्कि उसको समझाने की बजाय हमें अपने काम को करने के लिए ध्यान देना चाहिए क्योंकि बेवकूफ आदमी दोबारा कुछ ना कुछ बेवकूफी कर ही देता है।

Post a Comment

0 Comments